© Copyright 2017 Mobirise - All Rights Reserved

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) के द्वारा कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट या सामान्य योग्यता परीक्षा (CET)

कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट या सामान्य योग्यता परीक्षा (CET) राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) द्वारा सरकारी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में गैर-राजपत्रित पदों की भर्ती के लिए भी आयोजित किया जाएगा. परीक्षण का उद्देश्य हर साल विज्ञापित सरकारी नौकरियों में एकल ऑनलाइन परीक्षा के साथ विभिन्न भर्ती एजेंसियों द्वारा आयोजित कई परीक्षाओं को बदलना है.

नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (NRA) एक बहु-एजेंसी निकाय है जो कि ग्रुप बी और ग्रुप सी (गैर-तकनीकी) पदों के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) आयोजित करेगी. इसके शासी निकाय में रेलवे मंत्रालय, वित्त मंत्रालय या वित्तीय सेवा विभाग, SSC, RRB और IBPS के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे. इसलिए हम कह सकते हैं कि NRA एक विशेषज्ञ निकाय होगा जो केंद्र सरकार की भर्ती में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी और सर्वोत्तम प्रक्रियाओं का पालन करेगी.

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA): मुख्य विशेषताएं

- एक साल में कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) दो बार आयोजित किया जाएगा. 

- विभिन्न स्तरों पर रिक्तियों पर भर्ती की सुविधा के लिए, स्नातक स्तर, 12 वीं पास और 10 वीं पास वाले उम्‍मीदवारों के लिए अलग से सीईटी का संचालन किया जाएगा. 

- NRA के तहत, एक बड़ा बदलाव यह होगा कि सीईटी 12 प्रमुख भारतीय भाषाओं में आयोजित किया जाएगा. जैसा कि हम जानते हैं कि केंद्र सरकार की नौकरियों में भर्ती केवल अंग्रेजी और हिंदी भाषाओं में होती है. 

- शुरुआत में CET तीन एजेंसियों के लिए कर्मचारी चयन आयोग, रेलवे भर्ती बोर्ड और इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनेल सेलेक्शन भर्तियों को कवर करेंगे. इसका विस्तार किया जाएगा लेकिन चरणबद्ध तरीके से. 

- वर्तमान में प्रचलित शहरी पूर्वाग्रह को दूर करने के लिए, CET पूरे भारत में लगभग 1000 केंद्रों में आयोजित की जाएगी. परीक्षा केंद्र देश के हर जिले में होगा. आकांक्षी जिलों में परीक्षा संरचना बनाने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा जिससे आगे चलकर उम्मीदवारों को अपने निवास स्थान के निकट परीक्षा केन्द्रों तक पहुंचने में मदद मिलेगी. 

- उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए, CET प्रथम स्तर की परीक्षा होगी और CET का स्कोर तीन वर्षों के लिए वैध होगा. 

- NRA के तहत, CET ऊपरी आयु सीमा के अध्यधीन होगी उम्‍मीदवारों द्वारा सीईटी में भाग लेने के लिए अवसरों की संख्‍या पर कोई सीमा नहीं होगी. सरकार की मौजूदा नीति के अनुसार अजा/अजजा/अपिव तथा अन्‍य श्रेणियों के उम्‍मीदवारों को ऊपरी आयु-सीमा में छूट दी जाएगी.

इससे फायदा क्या होगा?

चूंकि शुरुआती दौर में शॉर्टलिस्ट होने के लिए केवल CET एग्जाम ही देना है, तो इससे अभ्यर्थी कई एग्जाम देने से बच जाएंगे। साथ ही एक बार फीस चुकाने के कारण आर्थिक दबाव भी कम पड़ेगा। 

कई बार आवेदकों को अलग-अलग पोर्टल्स पर रजिस्ट्रेशन की जरूरत होती है, लेकिन सिंगल रजिस्ट्रेशन से उनका काम हो जाएगा। शिक्षाविद् और सबधाणी कोचिंग क्लासेज के डायरेक्टर आनंद सबधाणी का कहना है कि पहले बच्चे कई तरह के अलग-अलग फार्म भरते थे और हर फार्म का खर्चा 100-700 रुपए तक होता था, लेकिन अब यह बच जाएगा। अलग-अलग सेंटर्स का चुनाव भी नहीं करना होगा।

कई बार अभ्यर्थी परीक्षा की तारीखों को लेकर भी चिंतित रहते थे। ऐसे में एक एग्जाम की वजह से डेट क्लैश होने की नौबत नहीं आएगी। सरकार के मुताबिक, इससे रिक्रूटमेंट प्रक्रिया आसान हो जाएगी और इसमें लगने वाला समय काफी कम हो जाएगा।

वे तीन एजेंसियां, जिन्हें कवर करने जा रहा है NRA

SSC CGL 

यह एक नेशनल लेवल का एग्जाम है, जिसका आयोजन स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (SSC) कराता है। इसके जरिए अभ्यर्थियों को भारत सरकार के अलग-अलग मंत्रालयों, विभागों, संस्थाओं में ग्रुप B और ग्रुप C पदों के लिए शॉर्टलिस्ट किया जाता है।

वेबसाइट शिक्षा डॉट कॉम के अनुसार हर साल एसएससी सीजीएल परीक्षा में 30 लाख लोग आवेदन करते हैं और 15 लाख छात्र परीक्षा में शामिल होते हैं। एसएससी परीक्षाओं को 4 स्टेज में कराता है। इन स्टेज को टीयर कहा जाता है। सीजीएल के लिए पहले दो टीयर्स के एग्जाम ऑनलाइन होते हैं और अगले दो टीयर्स की परीक्षाएं ऑफलाइन मोड में होती हैं। 

IBPS 

हर साल लाखों अभ्यर्थी कई बैंकिंग एग्जाम के लिए आवेदन करते हैं। द इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन एक ऑटोनोमस बॉडी है जो पब्लिक सेक्टर बैंक, एसबीआई, आरबीआई, नाबार्ड, एसआईडीबीआई, कुछ कोऑपरेटिव बैंक और इंश्योरेंस कंपनियों के लिए सिलेक्शन करती है।

शिक्षा डॉट कॉम के अनुसार, 2019-20 के दौरान 1.45 करोड़ लोगों अलग-अलग IBPS एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। 

RRB 

भारतीय रेलवे के लिए नियुक्ति करने का काम रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड (RRB) और रेलवे रिक्रूटमेंट सेल (RRC) करता है। शिक्षा डॉट कॉम के मुताबिक रेलवे में ग्रुप C (टेक्निकल और नॉन टेक्निकल पदों) पर नियुक्ति की जिम्मेदारी RRB की होती है, जबकि ग्रुप D की रिक्रूटमेंट के लिए परीक्षा का जिम्मा RRC के पास होता है।

रेलवे में ग्रुप A और B की रिक्रूटमेंट सिविल सर्विसेज और इंजीनियरिंग सर्विसेज एग्जाम (ESE) के जरिए होती हैं।


जैसे ही CET का सिलेबस आएगा, हमारे द्वारा इस परीक्षा का ऑनलाइन कोर्स बहुत कम कीमत में दिया जाएगा.

SHARE THIS PAGE!